Archive for the ‘Uncategorized’ Category

Sticky flag

हम अंजान लोगो पर भरोसा करते है लेकिन अपनों पर नहीं क्यूँ

लोग बुहूत है ! इस दुनिया मेँ लेकिन फिर भी लोगो का टाइम अकेले बित्ता है क्यूँ !

क्या अपने कभी सोचा है इस बारे मेँ !!!!!!!!!!!!!

लोग बुहूत है इस दुनिया मेँ लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ता ! अगर फर्क पड़ता है तो सिर्फ इस बात से कि आप कितने लोगो को जानते है ! देखा जाए तो इस पूरी दुनिया मेँ कितने लोग है ! चलो पूरी दुनिया कि बात छोरों सिर्फ अपने भारत देश की बात करते है ! पूरे भारत देश मेँ कितने लोग है ! चलो छोरों पूरे ‘’भारत देश को छोरों सिर्फ अपने स्टेट की बात करते है ! जिस किटी में आप रहते है या यू कहे के जिस गली मुहल्ले में आप रहते है खैर जहा भी आप रहते है तो वाहा आप कितने लोगो को जानते है या फिर यू कहे के आप अपने यार दोस्तो और रिश्तेदार में कितने लोगो को जानते है

This image has an empty alt attribute; its file name is bharosa.jpg

क्या आपको पता है कि सिर्फ जानने से फर्क नहीं पड़ता फर्क अगर पड़ता है तो इस बात से कि आप अपने जनपहचान वालों पर भरोसा करते है या नहीं और करते है तो कितना ????

क्या आपको पता है कि हम लोग अपने जानने वाले लोगो पर भरोसा नहीं करते है और यह बात सच है और यह बात आप भी जानते है ???

अपने कभी सोचा है कि हम जिन लोगो को नहीं जानते है और जिनसे हम कभी मिले भी नहीं होते है लेकिन फिर भी लोग उन अंजान लोगो पर जल्दी भरोसा कर लेते है क्यू ??? कैसे ???

खैर जोह भी हो इसका एक एक्जाम्पल देता हो में आपको बाकी आप खुद सोचना

This image has an empty alt attribute; its file name is log.jpg

जैसे कि कोई अपने शहर से दूसरे शहर जा रहा है और वो बंदा सस्ता भूल गया हो और उसके साथ कोई नहीं है वो अकेला है लेकिन अब उससे दूसरे शहर भी जाना है तो अब वह क्या करेगा अब उसे जोह कोई भी रास्ते में मिलेगा उस से रास्ता पूछेगा और उस आदमी को शुक्रिया कहे कर उसके बताइए हुए रास्ते पर चल देगा जिस आदमी से उसने रास्ता पूछा है यह ना तो उसे जनता है और ना ही कभी मिला है और शायद दुबारा कभी मिलेगा भी नहीं लेकिन फिर भी एक अंजान आदमी पर इतना भरोसा कैसे ओर क्यू ??? हो सकता है वो आदमी उसे गलत रास्ता बता दे और वो काही  और पाउच जाए

यह क्या बात है क्यू क्यू  ऐसा क्या है कि हम अंजान लोगो पर भरोसा कर लेते है ???

क्या आपके साथ कभी ऐसा कुछ हुआ हौ अगर है तो कोममेंट्स बॉक्स में ज़रूर बताइये

कुछ लोगो को सपने रात को ही क्यूँ आते है

सपने-सपने यह सपने सब को आते है ! किसी को रात को सोने के बाद आते है और किसी को दिन मे जागते हुए आते है  लेकिन ज्यादातर यह #सपने लोगो को रात को सोने के बाद आते है ! किसी ने कहा था कि सपने मत देखो कुछ कर के दिखाओ बिल्कुल सही कहा था सपने देखने से कुछ नहीं होता !

खैर क्या आपने कभी सोचा है कि सपने देखने के लिए रात को सोना पड़ता है और सोने के लिए दिन भर काम करना पड़ता है और क्या आपको पता है इसी काम से हमे कामयाबी मिलती है और इसी कामयाबी का हर किसी के लिए एक अलग ही मतलब होता है ! वो कहते है ना कि जितने मुह उतनी बाते !!!!!

कामयाबी-कामयाबी शब्द एक लेकिन मतलब अनेक ! कामयाबी का मतलब कुछ लोगो के लिए पैसा कमाना है ! तो वही कुछ लोगो के लिए कामयाबी का मतलब ही बिल्कुल अलग है ! इन लोगो के लिए इनकी इज्ज़त ही इन लोगो की कामयाबी है !

कामयाबी को पाने के लिए लोग काम करते है और काम करने के लिए सपना देखना ज़रूरी है क्यूँ के जब किसी के पास सपना ही नहीं होगा तो कोई काम क्यूँ करेगा ! तो अब हम कहे सकते है कि सपने देखने से कुछ तो नहीं लेकिन कुछ कुछ होता है ! तो #दोस्तो सपने देखो और उन्हे पूरा करने के लिए मेहनत करो ! सपने ही सच होते है ! लेकिन सपने सच करने के लिए सपने होने भी चाहिए जब सपने ही नहीं हौंगे तो सच क्या हौंगे ! कोई काम क्यूँ करेगा , क्यूँ के कोई सपना तो है नहीं , तो कोई काम क्यूँ करेगा !!!!

सपने उन्ही लोगो के पूरे होते है जिनके पास सपने होते है ! जो लोग उन सपनों के लिए मेहनत करते है लेकिन सब लोगो के सपने अलग अलग होते है ! तो इसी वजह से सब को मेहनत भी अलग अलग करनी पड़ती है ! सपनों को सच करना हो तो सब से पहेले सपने देखने हौंगे !!!

Team By Hamarahosla.com

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial